मीडिया हाउस ब्यूरो

हरिद्वार। 12 घंटे में 14 लाख की भीड़, सुरक्षा संभालने वाले दो हजार से अधिक पुलिस कर्मी व अधिकारी, बेहतर प्रबंधन….नतीजा जाम से मुक्ति और सोमवती स्नान सकुशल सम्पन्न। सब कुछ सही हुआ लेकिन शिव ससुराल कनखल के लोगों को इस प्रबंधन में बैरियर का सामना करना पड़ा। लोगों की वहां मौजूद पुलिस कर्मियों और पैरा मिलेट्री फोर्स के लोगों से कहासुनी भी हुई। बाद में मीडिया हाउस के ध्यान दिलाने पर एसएसपी ने इस बंदी को हटवाया।

सोमवती स्नान पुलिस प्रशासन के लिए हमेशा एक परीक्षा की तरह रहा है। इस बार ये परीक्षा पुलिस प्रशासन ने बेहतर प्रबंधन के साथ पास की। राहत की बात रही कि न ही हाईवे पर जाम लगा और न ही हरकी पैड़ी पर कोई अव्यवस्था दिखाई दी। स्नान सकुशल सम्पन्न हुआ। किसी तरह की कोई दुर्घटना की खबर नहीं थी।

सब कुछ ठीक हुआ लेकिन कनखल के लोगों को व्यर्थ ही पुलिस के बैरियरों का सामना करना पड़ा। शंकराचार्य चौक और बंगाली मोड़ पर कनखल से हरिद्वार आने जाने पर अचानक पुलिस ने पाबंदी लगा दी। शंकराचार्य जाने वाले रास्ते पर बैरियर लगा कर रास्ता बंद कर दिया गया। यही काम डामकोठी की ओर से आने वाले नये पुल पर हुआ। हैरत ये थी कि हाइवे पर यातायात सुगमता से चल रहा था।

बावजूद इसके इस बैरियर से लोगों को बेहद दिक्कतों का सामना करना पड़ा। यहां चार पहिया वाहनों पर बैन होता तो कोर्इ् बात नहीं थी लेकिन पुलिस ने जरूरतमंद लोगों को दोपहिया यहां तक कि साइकिल से भी नहीं जाने आने दिया। परेशान लोगों की सुरक्षा व्यवस्था में लगे कर्मियों से कहासुनी भी हुई। पहले एसपी सिटी ममता वोहरा और फिर एसएसपी कृष्ण कुमार वीके का ध्यान इस ओर दिलाने पर उन्होने इस बंदी को हटवाया। तब जाकर लोगों को राहत मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here