मीडिया हाउस ब्यूरो

मुम्बई। भारतीय सिनेमा के पितामह वी शांताराम को गुगल ने डूडल बनाकर उनको सैल्यूट किया है। आज उनका 116 वां जन्मदिन है। वी शांताराम ने अभिनेता और डायरेक्टर बन कर भारतीय सिनेमा को पूरे विश्व में एक पहचान दिलवाई। फिल्म मानुस के लिए उनकी प्रसिद्ध हास्य कलाकार चार्ली चैपलिन ने भी सराहा था।

18 नवंबर 1901 में कोल्हापुर में जन्मे वी शांताराम भारतीय फिल्म निर्माता, फिल्म निर्देशक और अभिनेता थे। वह डॉ. कोटणीस की अमर कहानी, अमर भोपाल, झनक झनक पायल बाजे, दो आँखे बारह हाथ, नवरांग, दुनिया न माने, पिंजरा, चानी, इय मराठिएचे नगरी और जुंजे जैसी फिल्मों के लिए याद किए जाते हैं।

वी शांताराम को गुगल ने ये डूडल बनाकर दिया सम्मान / मीडिया हाउस.डॉट

1942 में उन्होने मुंबई में अपनी प्रभात कंपनी राजकमल कला मंदिर बनाई जो फिल्म इंडस्ट्री में टॉप की कंपनी रही। शांताराम ने अपने करियर की शुरूआत वर्ष 1921 में आई मूक फिल्म सुरेख हरण से की थी। इस फिल्म में उन्हें बतौर अभिनेता काम करने का मौका मिला था। उन्होने अपने छ दशक लंबे फिल्मी कैरियर में लगभग 50 फिल्मों को निर्देशित किया था। आज उन्हें गुगल ने डूडल बनाकर सम्मान दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here