मीडिया हाउस ब्यूरो

हरिद्वार। श्रीदेवी की ​अस्थियां गंगा में विसर्जन करने के बाद कपूर ब्रदर द्वारा देव दर्शन और सूक्ष्म पूजा पर सुगबुगाहट होने लगी। कुछ लोगों का मानना है कि चूंकि आज वे अस्थि विसर्जन किए हैं तो ऐसे में पूजा नहीं की जा सकती। जबकि कुछ का मानना है कि तेरह दिन होने के बाद ऐसा हो सकता है।

बोनी कपूर और अनिल कपूर अपने परिवारीजन के साथ हरिहर आश्रम के पारद शिवलिंग के दर्शन को पहुंचे। यहां उन्हें वैदिक मंत्रोच्चार के बीच दर्शन करवाये गये। साथ ही अनिल कपूर ने शिवलिंग को छूकर आर्शीवाद भी लिया। इस बीच किसी ने टिप्पणी की कि ऐसे वक्त में मंदिर जाना निषेध है।

मीडिया हाउस डॉट न्यूज ने तीर्थ पुरोहित जितेन्द्र शास्त्री, नितिन माना व सिद्धार्थ चक्रपाणी से बात की। उन्होने कहा कि निसंदेह ऐसे में मंदिर जाना निषेध है। लेकिन गुरूवार यानि आज श्री देवी को तेरह दिन पूरे हो चुके हैं। ऐसे में सारे कर्मकांड करने के बाद मंदिर जाना आवश्यक ही माना जाता है। कहा कि इसमें कोई दोष की बात नहीं है।

पारे का शिवलिंग देख आश्चर्य में थे अनिल कपूर
पारे का शिवलिंग देखकर अनिल कपूर आश्चर्य में थे। उन्होने मंदिर प्रबंधकों से इस विषय में जानकारी ली। यह पारे का शिवलिंग वर्ष 1986 में स्थापित हुआ था। उन्होने रूद्राक्ष परिक्रमा करने के बाद उसके बाबत भी अपनी जिज्ञासा को शांत किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here