मीडिया हाउस ब्यूरो

हरिद्वार। भौमवती अमावस्या पर मंगलवार को हरिद्वार में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। सुहागन औरतों ने अपने पति की लंबी उम्र की कामना के साथ वट वृक्ष की पूजा की तो देश के विभिन्न हिस्सों से आये लोगों ने अपने पितरों के निमित्त गंगा स्नान, जल दान व पितृ पूजा कर अपने परिवार के शुभ की कामना की।
पौराणिक काल महत्व के श्री नारायणी शिला मंदिर में सुबह पांच बजे से ही पूजा, तर्पण, हवन व धार्मिक अनुष्ठान का कार्य शुरू हो गया था। नारायणी शिला पर भगवान श्री विष्णु भगवान के दर्शनों के लिए लोगों की भारी भीड़ रही।

श्री नारायणी शिला प्रमुख पं. मनोज त्रिपाठी ने बताया कि इस भौमवती अमावस्या पर गंगा स्नान, जलदान व पितृकर्म का विशेष महत्व है। पति की लंबी आयु की कामना, ऋणों से मुक्ति और पितृदोष से मुक्ति के लिए इस दिन पूजा का खास विधान है। श्री नारायणी शिला मंदिर प्रबंधन ने पर्व के लिए बेहतर व्यवस्थाएं की थी।
आइये सुनते और देखते हैं कि क्या रहा पूरे दिन श्री नारायणी शिला मंदिर में धार्मिक नजारा और पर्व के महत्व पर ये बोले प्रकांड ज्योतिषविद् पं. मनोज त्रिपाठी जी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here