मीडिया हाउस ब्यूरो

बेंगलूरू। कर्नाटक में कांग्रेस को पछाड़कर सत्ता से दूर करने वाली भाजपा ऐन वक्त पर बहुमत के आंकड़े पर आकर अटक गयी। नतीजों से मायूस कांग्रेस ने भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए तुरंत जेडीएस को सीएम पद का न्यौता भेज दिया। हालांकि अभी सभी सीटों के नतीजे घोषित नहीं हुए है।

कांग्रेस पार्टी के नेता जी परमेश्वर बोले कि ‘जनादेश के समक्ष हम नतमस्तक हैं। सरकार बनाने के लिए हमारे पास आंकड़ा नहीं है। ऐसे में कांग्रेस ने सरकार बनाने के लिए जेडीएस को समर्थन देने की पेशकश की है।’ कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद ने दावा किया कि जेडीएस ने इस आफर को स्वीकार कर लिया है। और वे शाम में ही गर्वनर से मिलकर उन्हें समर्थन का पत्र सौंपेंगे। इन सारे घटनाक्रम के मध्य भाजपा ने अपने तीन वरिष्ठ नेताओं प्रकाश जावड़ेकर, जेपी नड्डा और धर्मेंद्र प्रधान को बेंगलुरु भेजा है।

बता दें कि एक समय भाजपा 222 में से 116 सीटों पर आगे चल रही थी। लेकिन दोपहर तीन बजे तक ये गणित बदल गया और भाजपा 106 सीटों पर ही आगे थी। ये आंकड़ा बहुमत से 6 सीट कम है। जबकि दो निर्दलीय भी जीत कर आये हैं तो भी भाजपा का गणित बहुमत से फिलहाल दूर लग रहा है।

मायूस कांग्रेस और जेडीएस ​को मिलाकर कुल 114 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। भाजपा कोई और गेम खेलकर कांग्रेस को बिल्कुल पस्त कर दे, उससे पहले ही कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने बिना देर लगाए जेडीएस के कुमारस्वामी को सीएम पद आॅफर कर दिया है। हालांकि अभी गिनती का काम चल रहा है और सीटों में फेरबदल संभव है। साथ ही अभी इस आफर पर किंग मेकर बन कर उभरे जेडीएस का रूख खुलकर सामने नहीं आया है। न ही भाजपा का नेतृत्व इस पर अपने पत्ते खोलने का तैयार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here